The Political India
बिज़नेस मनोरंजन

विशालकाय गुफाएं-जहरीले सांप, यहां हुई है ठग्स ऑफ हिंदोस्तान की शूटिंग


ठग्स ऑफ हिंदोस्तान में अमिताभ बच्चन, आमिर खान, कटरीना कैफ और फातिमा सना शेख महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभा रही हैं

फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ इस साल की कुछ बहुप्रतीक्षित फिल्मों में से एक है. फैन्स आमिर खान  और अमिताभ बच्चन को पहली बार पर्दे पर एक साथ देख पाएंगे. फिल्म की ज्यादातर शूटिंग थाइलैंड और माल्टा में की गई है. बोरा द्वीप पर वर्षावनों और गुफाओं में फिल्म की शूटिंग हुई है. ये इलाका जहरीले सांपों के लिए भी जाना जाता है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक फिल्म में खुदाबख्श  का किरदार निभा रहे अमिताभ को शुरू में समझ नहीं आया कि वे थाइलैंड क्यों जा रहे हैं? रिपोर्ट के मुताबिक अमिताभ ने कहा, “मेरी समझ में नहीं आया कि थाइलैंड जाकर इस सीक्वेंस को शूट करने के पीछे विक्टर की फिलॉसफी क्या है, लेकिन उनसे कहा कि हमने एक बहुत खूबसूरत लोकेशन ढूंढी है और मैं इसे एक्सप्लोर करना चाहता हूं.”

अमिताभ ने कहा, “मुझे यह मानना होगा कि जब मैं वहां गया और लोकेशन देखी तो यह हैरान कर देने वाली थी. यह एक विशालकाय गुफा थी. यह करीब 20-30 मंजिल ऊंची रही होगी. यह कल्पना करना भी मुश्किल था कि प्रकृति ने इसे कैसे बनाया होगा.”

बिग बी ने कहा कि जब वे वहां शूट कर रहे थे तो तमाम विजिटर्स आ जाते थे जिनके पास विजिटिंग पास तक नहीं थे. पहाड़ों के पीछे से अचानक सांप निकल आते थे. कई बार क्रू एक दूसरे पर रबर के सांप फेंक कर प्रैंक भी किया करता था. रिपोर्ट के मुताबिक फिल्म में फिरंगी मल्लाह की भूमिका निभाने वाले आमिर खान भी इस लोकेशन से काफी इंप्रैस थे.

Related posts

फ्रॉड के चलते 2017-18 में बैंकों को 41,167 करोड़ रुपये का नुकसान: रिज़र्व बैंक

Editor ThePoliticalIndia

रिलायंस जियो को सरकार द्वारा संरक्षण देने का आरोप, बीएसएनएल यूनियन तीन ​दिसंबर से हड़ताल पर

Editor ThePoliticalIndia

नोटबंदी के बाद पुराने नोट जमा करने के 1.5 लाख मामलों की जांच, गुजरात के लोग सबसे आगे

Editor ThePoliticalIndia

अंतरिम बजट पर क्या है जनता की राय : PM मोदी पास हुए या फेल ? “द पॉलिटिकल इंडिया ” की ख़ास पेशकश

Editor ThePoliticalIndia

देश भर में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के 10 लाख कर्मचारी हड़ताल पर, जनता की बढ़ी परेशानी

Editor ThePoliticalIndia

कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक एक भाषा चाहते थे स्वामी दयानंद सरस्वती

admin