The Political India
इलेक्शन प्रादेशिक राष्ट्रीय

छत्तीसगढ़ः EVM को लेकर सही निकली कांग्रेस की शिकायत, तहसीलदार सस्पेंड


छत्तीसगढ़ के धमतरी में ईवीएम (EVM) के स्ट्रांग रूम में अवैध रूप से व्यक्ति के घुसने की शिकायत मिली सही. कांग्रेस नेताओं की शिकायत पर तहसीलदार निलंबित

 

नई दिल्ली: नियम है कि मतदान के बाद सभी ईवीएम ( EVM) स्ट्रांग रूम में सख्त सुरक्षा व्यवस्था के बीच रखीं जाएं. पहरा ऐसा हो कि परिंदा भी न पर मार पाए. स्ट्रांग रूम में अनाधिकृत रूप से किसी भी व्यक्ति का प्रवेश अमान्य है. मगर छत्तीसगढ़ में गजब हुआ. यहां तहसीलदार ने अपने साथ अवैध तरीके से एक व्यक्ति को EVM( ईवीएम) के स्ट्रांग रूम में घुसने दिया. कांग्रेस नेताओं की शिकायत सही पाए जाने पर  बुधवार देर रात धमतरी के तहसीलदार राकेश ध्रुव को निलंबित कर दिया गया है. आरोप है कि धमतरी के तहसीलदार ने अपने साथ अनाधिकृत व्यक्तियों को बगैर निर्वाचन आयोग व जिला निर्वाचन अधिकारी की अनुमति के स्ट्रॉंग रूम के भीतर प्रवेश करा दिया था.

इस मामले ने पिछले दो-तीन दिनों से पूरे प्रदेश में राजनैतिक तूफान खड़ा कर दिया था. सभी राजनैतिक पार्टियां अपने-अपने तरीके से विरोध प्रदर्शन कर कार्रवाई की मांग कर रही थीं. इस मामले में तो छत्तीसगढ़ कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू से मंगलवार की ही देर रात मुलाकात कर मामले की जानकारी भी दी थी.

 

कांग्रेस की शिकायत के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी धमतरी से रिपोर्ट मंगवाई गई थी. शिकायत सही पाई गई. इसके आधार पर तहसीलदार के खिलाफ यह कार्रवाई की गई है. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के निर्देश पर रायपुर संभाग के कमिश्रर जीआर सुरेंद्र ने यह आदेश जारी किया है. जारी आदेश के अनुसार तहसीलदार राकेश ध्रुव को निर्वाचन निर्देशों का उल्लंघन किए जाने के कारण निलंबित किया गया है. निलंबन अवधि में ध्रुव को मुख्यालय कलेक्टोरेट कार्यालय रायपुर में नियत किया गया है.

गौरतलब  है कि 27 नवंबर को धमतरी के कलेक्ट्रेट के आगे लॉइव्हलीहुड कॉलेज में स्थापित स्ट्रॉंग रूम परिसर में अनाधिकृत व्यक्तियों के प्रवेश कराए जाने के संबंध में शिकायत आयोग से की गई थी.

 
 छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (chhattisgarh assembly election 2018) में भले ही मतदान हो गया हो लेकिन बावजूद इसके उम्मीदवारों को EVM में सेंधमारी का डर सता रहा है. डर ऐसा कि कार्यकर्ताओं की बात छोड़िए, खुद उम्मीदवार स्ट्रांग रूम के बाहर टेंट लगाकर निगरानी करने बैठ गए हैं. पूरा मामला छत्तीसगढ़ (chhattisgarh assembly election 2018) के कोंडागांव जिले के केशकाल और कोंडागांव विधानसभा सीट की है. हालांकि यहां चुनाव के बाद EVM मशीन को स्ट्रांग रूम में जमा कराकर सील कर दिया गया था.साथ ही उसके साथ कोई छेड़छाड़ न हो इसके लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं 
साभार : द वायर

Related posts

एनकाउंटर के बाद पुलवामा में बवाल, 7 नागरिकों की मौत, 1 जवान शहीद

Editor ThePoliticalIndia

लोकतंत्र के ‘मंदिर’ में बैठे हैं 30 फीसदी दागी सांसद, सबसे ज्यादा BJP नेताओं के दामन हैं दागदार

admin

आगराः BJP विधायक ने महिला SDM को हड़काया, वीडियो वायरल

Editor ThePoliticalIndia

छापेमारी पर वाड्रा बोले- मेरे साथ हो रही ज्यादती, ED ने मेरा मंदिर भी तोड़ा

Editor ThePoliticalIndia

‘सरकारी जासूसी’ पर ओवैसी बोले- अब समझ में आया घर-घर मोदी का मतलब

Editor ThePoliticalIndia

लोकसभा ने Aadhaar संशोधन विधेयक को किया पास

Editor ThePoliticalIndia